Friday, July 22, 2011

वो हमसे पूछे क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते,

वो हमसे पूछे क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते,
बस ऐसे ही चलती रहती अपनी बातें,कट जाती है ऐसे ही अपनी तो प्यारी रातें,

कुछ बताओ, कभी तुम कुछ बताओ, यही हम दोनों करते,
तुम कुछ पूछ लो, तुम कुछ पूछ लो कभी यह हम करते रहते,
ना वो पूछे ना हम पूछे, ना वो बताते ना हम बतातें,
दोनों ही इतराते जाते और मन ही मन हम मुस्काते जाते,
वो हमसे पूछे क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते,

कभी हम पूछे क्या करते हो दिन भर, कभी ये पूछे खाना खाया,
कभी पूछे घर में सब कैसे, कभी पूछे दूसरों की खबरें,
कभी हम पूछे कुछ तो लिखो, कभी वो पूछे कुछ तो पढ़ाओ,
लिखने पड़ने में रह जाते, बस यूँ ही हम बात करते जाते,
वो हमसे पूछे क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते,

लगता है की क्या बातें करे कभी, फिर भी हम करते जाते,
रोज ना जाने क्या क्या बातें करते, रुकते जाते करते जाते,
मुस्काते है, इठलाते है, बात करते करते कभी कभी रुक जाते है,
पर सच कहता हूँ मैं तो की, मन तो बस बाते करने को ही करता जाता है,
वो हमसे पूछ क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते,

कभी वो अपनी सुनती जाती, और मैं बस सुनता चला जाता,
कभी मैं अपनी कुछ सुनाता हूँ , और वो बस सुनती चली जाती,
ऐसे ही कट जाती रातें, हो जाती कितनी ही बातें,
बातें तो बस चलती जाती, दूरियां सब मिटती जाती,
वो हमसे पूछ क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते,

4 comments:

Nirmal Kumar said...

Bhabhi ji ko mera namaskar.aap pahle kyon nahi mili,agar pahle mil jati to bhai pahle hi line pe aa jata... khair der se hi sahi... line pe to aa gaya hai.

Common Indian.........who has started thinking said...

Poem achhi hai..kafi aam zindagi ke asli prem par adharit hai jise har koi aadmi relate kar sakta hai. 'Bhavna' k lihaaz se sab achha hai par thodi lambi hai. ya to vakya thode chhote hote ya koi para kam hota. padne mein aur samajhne mein thodi pareshani hoti hai.

Akhilesh Tripathi said...

Nice one Jain saab ..... actual experience....!!! Good luck :)

Jatin said...

Jain shaab cool hai...par "वो हमसे पूछे क्यों नहीं तुम कुछ कहते, हम उनसे पूछे तुम तो कुछ कहते"